म्यूचुअल फंड में कितना ब्याज मिलता है

म्यूचुअल फंड क्या होता है-(Mutual Fund Kya Hai)

म्यूचुअल फंड को हिंदी में “पारस्परिक निधि” कहा जाता है, जिसका अर्थ है कई लोगों की साझा रकम। इसमें, विभिन्न निवेशकों का पैसा एकत्रित किया जाता है और फिर उस पैसे को शेयर बाजार या अन्य निवेश योजनाओं में लगाया जाता है। जब निवेश के फलस्वरूप पैसा कमाया जाता है, तो उस लाभ को सभी निवेशकों के अनुसार बांटा जाता है।

म्यूचुअल फंड में कितना ब्याज मिलता है

म्यूचुअल फंड्स निवेश करने वालों का पैसा विशेषज्ञों द्वारा प्रबंधित किया जाता है, जो निवेश के लिए विभिन्न निवेश योजनाओं को चुनते हैं। इस टीम में फंड प्रबंधक, वित्तीय विशेषज्ञ और बाजार के अन्य विशेषज्ञ होते हैं, जो बाजार की स्थिति को समझते हैं और निवेश करने के लिए सही निर्णय लेते हैं। इन्हें कंपनियों के शेयरों के बारे में पूर्व रिसर्च करना होता है और उनके पिछले रिकॉर्ड और आगे की संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए निवेश के फैसले किए जाते हैं।

म्यूचुअल फंड्स निवेशकों को बड़े-बड़े निवेश योजनाओं में कम पैसे लगाने की सुविधा प्रदान करते हैं और उन्हें उच्च लाभ की संभावना देते हैं।


म्यूचुअल फंड में कितना ब्याज मिलता है

क्रमांकम्यूचुअल फंड योजना का नामपिछले 3 वर्षों में रिटर्न (%)पिछले 5 वर्षों में रिटर्न (%)
1क्वांट स्मॉल कैप फंड डायरेक्ट प्लान49%29%
2निप्पोन इंडिया स्मॉल कैप फंड डायरेक्ट प्लान45%23%
3एक्सिस स्मॉल कैप फंड डायरेक्ट प्लान36%23%
4एसबीआई स्मॉल कैप फंड डायरेक्ट प्लान33%20%
5टाटा डिजिटल इंडिया फंड डायरेक्ट प्लान28%20%

म्यूचुअल फंड के नुकसान-(Disadvantages Of Mutual Funds-)

म्यूचुअल फंड एक लोकप्रिय निवेश विकल्प हैं, लेकिन निवेशकों को इसके नुकसान की भी जानकारी होनी चाहिए। यहां हम कुछ महत्वपूर्ण नुकसानों के बारे में चर्चा करेंगे जो निवेश करने से पहले ध्यान में रखने चाहिए।

म्यूचुअल फंड के नुकसान

1. एंट्री या एग्जिट भार

कुछ म्यूचुअल फंड एंट्री या एग्जिट लोड का शुल्क लेते हैं, जो कि निवेशकों को भुगतान करना पड़ता है। यह शुल्क ऑपरेशन और स्टाफ की सेलरी के लिए लिया जाता है, लेकिन इसकी मात्रा आमतौर पर 1% से 3% तक होती है। लेकिन, कुछ फंड अधिक लोड लेने के बावजूद अधिक रिटर्न प्रदान करते हैं।

शेयर मार्केट कैसे सीखे हिंदी में | एक नए निवेशक के लिए गाइड

2. टैक्स

म्यूचुअल फंड से लाभ पर कैपिटल गेन टैक्स लगता है, जो कि निवेशकों को ध्यान में रखना चाहिए।

3. कठिन चरण

म्यूचुअल फंड निवेश के दौरान कठिन चरणों का सामना कर सकते हैं, जो निवेशकों को पूंजीगत नुकसान में डाल सकते हैं। इसलिए, निवेश करने से पहले यह ध्यान में रखना जरूरी है।

4. निकालने में परेशानी

कुछ फंड लॉक-इन अवधि के साथ आते हैं, जिससे निवेशकों को पैसे निकालने में परेशानी हो सकती है।

5. विविधता के कारण कम लाभ

विविधीकरण आपके जोखिम को कम करता है, लेकिन यह आपके लाभ को भी कम कर सकता है। अगर आप बैलेंस्ड या हाइब्रिड म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं, तो आपको यह बात ध्यान में रखनी चाहिए।

इन सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए और विवेकपूर्ण निर्णय लेते हुए, निवेशक अपने निवेश को सुरक्षित बना सकते हैं।


टॉप 10 म्यूचुअल फंड-(Top 10 Mutual Fund)

देखें, नीचे दी गई तालिका में शीर्ष-10 म्यूचुअल फंड्स की सूची शामिल है:

टॉप 10 म्यूचुअल फंड
क्रमांकनाम
1मिरे एसेट लार्ज कैप फंड (Mirae Asset Large Cap Fund)
2मिरे एसेट हाइब्रिड इक्विटी फंड (Mirae Asset Hybrid Equity Fund)
3एक्सिस ब्लूचिप फंड (Axis Bluechip Fund)
4एक्सिस मिडकैप फंड (Axis Midcap Fund)
5एक्सिस स्मॉल कैप फंड (Axis Small Cap Fund)
6पराग पारीख लॉन्ग टर्म इक्विटी फंड (Parag Parikh Long Term Equity Fund)
7यूटीआई फ्लेक्सी कैप फंड (UTI Flexi Cap Fund)
8कोटक इमर्जिंग इक्विटी फंड (Kotak Emerging Equity Fund)
9एसबीआई स्मॉल कैप फंड (SBI Small Cap Fund)
10एसबीआई इक्विटी हाइब्रिड फंड (SBI Equity Hybrid Fund)

यहाँ, आप देख सकते हैं कि कौन-कौन से फंड शामिल हैं और उनकी स्थिति क्रमांक के आधार पर दी गई है।


म्यूचुअल फंड सही है या गलत

म्युचुअल फंड में निवेश करने के फायदे को समझें:

  1. लंबी अवधि के लिए सुरक्षितता: म्युचुअल फंड लंबी अवधि के लिए सुरक्षित होते हैं क्योंकि वे लंबी अवधि में चक्रवृद्धि लाभ प्रदान करते हैं, और आपको कमाई पर रिटर्न भी मिलेगा।
  2. अलग-अलग अवधि के लिए उपयुक्तता: मंदी के दौरान म्युचुअल फंड में निवेश करना सुरक्षित है क्योंकि यह एसआईपी के जरिए बाजार की अस्थिरता से निपटने में मदद करता है।
  3. धीमे चक्रवृद्धि का लाभ: बाजार में गिरावट आने पर आपको म्युचुअल फंड में निवेश करना चाहिए, रुपये की औसत लागत का लाभ प्राप्त करने के लिए एसआईपी के साथ, और लंबे समय तक एकमुश्त राशि के साथ चक्रवृद्धि का लाभ प्राप्त करने के लिए।
  4. निवेश के जोखिम: म्युचुअल फंड में निवेश के जोखिम में मूलधन और वापसी राशि का नुकसान, एनएवी में उतार-चढ़ाव, फंड मैनेजर जोखिम, एकाग्रता जोखिम, मुद्रा जोखिम आदि शामिल हैं।

सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाला म्यूच्यूअल फण्ड

लार्ज कैप फंड्स में सबसे अधिक निवेश

लार्ज कैप फंड्स में निवेश सबसे अधिक निवेश होता है। 2023 में, लार्ज कैप फंड्स ने सबसे कम रिटर्न दिए है, लेकिन यहाँ पर इन्वेस्टर्स का बहुत अधिक ध्यान होता है। इन फंड्स में कुल एयूएम 2,76,639 करोड़ रुपये का निवेश हो चुका है। मिड कैप फंड्स में कुल एयूएम 2,64,277 करोड़ रुपये और स्मॉल कैप फंड्स में 2,20,176 करोड़ रुपये का निवेश हुआ है।

लार्ज कैप में टॉप रिटर्न वाले फंड्स

लार्ज कैप फंड्स वे फंड स्कीम्स होती हैं जो न्यूनतम 80 फीसदी पैसा लार्ज कैप स्टॉक्स में निवेश करती हैं। इन फंड्स में निवेश करने पर 21 दिसंबर तक औसतन 16.15 फीसदी रिटर्न मिला है।

लार्ज कैप फंड्सटॉप फंडरिटर्न
1.निप्पोन इंडिया लार्ज कैप फंड28.86%
2.बैंक ऑफ इंडिया ब्लूचिप फंड27.05%
3.एचडीएफसी टॉप 100 फंड26.61%
4.जेएम लार्ज कैप फंड26.16%
5.इन्वेस्को इंडिया लार्जकैप फंड24.45%

मिड कैप में टॉप परफॉर्मर

मिड कैप फंड्स वे स्कीम्स होती हैं जो न्यूनतम 65 फीसदी मार्केट कैप के हिसाब से 101 से 250वें स्थान पर आने वाली कंपनियों में निवेश करती हैं। इनमें से कुछ शीर्ष फंड्स हैं:

मिड कैप फंड्सफंड का नामरिटर्न (%)
1.निप्पोन इंडिया ग्रोथ फंड42.93%
2.जेएम मिडकैप फंड42.88%
3.महिंद्रा मनुलाइफ मिड कैप फंड41.31%
4.एचडीएफसी मिड कैप अपॉर्च्युनिटी फंड41.11%
5.व्हाइटऑक कैपिटल मिड कैप फंड38.53%

स्मॉल कैप में शीर्ष फंड

स्मॉल कैप फंड्स वे स्कीम्स होती हैं जो न्यूनतम 65 फीसदी मार्केट कैप के हिसाब से 250 कंपनियों के बाद आने वाली कंपनियों में निवेश करती हैं। कुछ टॉप स्मॉल कैप फंड्स इस प्रकार हैं:

स्मॉल कैप फंडस्मॉल कैप फंडरिटर्न (%)
1.महिंद्रा मुनलाइफ स्मॉल कैप फंड53.22%
2.बंधन स्मॉल कैप फंड49.48%
3.फ्रेंकलिन इंडिया स्मॉलर कंपनीज फंड49.44%
4.आईटीआई स्मॉल कैप फंड48.54%
5.क्वांट स्मॉल कैप फंड44.90%

यह रिटर्न के आंकड़े सबसे हालिया हैं, जो आपको अपने निवेश के लिए मार्गदर्शन दे सकते हैं।


Sharing Is Caring:

I am Vishal, the person behind this wonderful blog. I am a 22-year old blogger, Digital Marketer, SEO Expert, and Influencer from Maharashtra(Bharat)

Leave a comment