Inverted Hammer Candlestick Pattern in Hindi

Inverted Hammer Candlestick

Inverted Hammer Candlestic: जब किसी कैंडल की शैडो उसके बॉडी से दुगनी या उससे ज्यादा होती हैं तो उस कैंडल को इनवर्टेड हैमर कैंडलस्टिक कहते हैं। इनवर्टेड हैमर कैंडल में रंग का महत्व नहीं होता। यह कैंडल तेजी को प्रदर्शित करती हैं। यह कैंडल बने तो बाजार परिवर्तन सम्भावना ज्यादा हैं।

Inverted Hammer Candlestick Pattern in Hindi

इनवर्टेड हैमर के प्रकार

इनवर्टेड हैमर के सिर्फ दो प्रकार ही पड़ते हैं एक हरे रंग का होता हैं और दूसरा लाल रंग का होता हैं। यह कैंडल हैमर कैंडल से उलटी होती हैं। बस इसके ओपन प्राइस और क्लोज प्राइस में अंतर होता हैं। [Inverted Hammer Candlestic]

इनवर्टेड हैमर काम कैसे करता हैं

  • इनवर्टेड हैमर पिछली कैंडल के low के बराबर या उसके निचे बननी चाहिए।
  • उसके आगे की कैंडल गैप में बननी चाहिए।
  • इसके बाद जब तक प्राइस पिछली कैंडल के ऊपर नहीं आ जाता तब तक खरेदी न करे
  • इनवर्टेड हैमर की अगली कैंडल जब गैप उप ओपन होगी वह पहली कन्फर्मेशन हैं और जब प्राइस पिछली कैंडल से ऊपर होनी चाहिए तब दूसरी कन्फर्मेशन हैं।
  • दोनों कन्फर्मेशन के बाद खरेदी करनी चाहिए।

इनवर्टेड हैमर की पहचान

  • इनवर्टेड हैमर की कैंडल एक छोटी कैंडल होती हैं।
  • इसकी लोअर शैडो नहीं होती या फिर बहुत छोटी होती हैं।
  • इस कैंडल में रंग का कोई महत्त्व नहीं होता।
  • यह कैंडल चार्ट के बॉटम में बनती हैं।

इनवर्टेड हैमर से ट्रेडिंग कैसे करे

चार्ट में आरही लम्बी गिरावट के बाद इनवर्टेड हैमर दिखेगा उसके आगे की कैंडल इनवर्टेड हैमर के क्लोज प्राइस के अंदर या फिर गैप उप ओपन होनी चाहिए।

जब प्राइस इनवर्टेड हैमर के पिछली कैंडल के ऊपर जाये तो खरेदी करनी चाहिए।

इसके बज जब तक ट्रेंड परिवर्तन का संकेत नहीं मिलता तब तक पोजीशन होल्ड करनी चाहिए।

जब आपको ट्रेंड परिवर्तन का संकेत मिल जाये तब प्रॉफिट बुक करना चाहिए। [Inverted Hammer Candlestic]

Sharing Is Caring:

I am Vishal, the person behind this wonderful blog. I am a 22-year old blogger, Digital Marketer, SEO Expert, and Influencer from Maharashtra(Bharat)

Leave a comment