इंट्राडे ट्रेडिंग के नियम | सफलता की कुंजी

इंट्राडे ट्रेडिंग के नियम: बहुत सारे लोग स्टॉक मार्केट में सिर्फ इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए आते है। कुछ समय स्टॉक मार्केट में समय बिताने के बाद उन्हें पता चलता है की इंट्राडे ट्रेडिंग इतनी आसान नहीं है। इंट्राडे ट्रेडिंग मई बाकि ट्रेडिंग के मुकाबले ज्यादा रिस्क होता है जिसके कारन बहुत सारे लोग इंट्राडे ट्रेडिंग में फेल हो जाते है।

इंट्राडे ट्रेडिंग के नियम

आज हम आपको इंट्राडे ट्रेडिंग के कुछ ऐसे नियम बताएँगे जो आपको एक सफल ट्रेडर बनाने में मदत करेंगे।

बिना इमोशन के ट्रेड करे

इंट्राडे ट्रेडिंग करते समय कभी भी इमोशन के साथ ट्रेडिंग नहीं करनी है। ट्रेडिंग करते समय आपको अपने इमोशन साइड में रखकर एक रोबोट की तरह ट्रेडिंग करनी है। जैसे जब कभी आपको ट्रेडिंग में लॉस होता है तो आप उसी दिन उस लॉस को कवर करने लगते हो जिसके कारन आप बहुत सारे ट्रेड एक ही दिन में ले लेते हो।

एक बार आपको आपका स्टॉपलॉस और टारगेट को तय करना है और उसे पकड़ कर ही ट्रेडिंग करनी है। अगर आपको प्रॉफिट होता है तो ठीक लेकिन अगर आपका स्टॉपलॉस हिट हो जाता है तो अपने लॉस को मान्य कीजिये। [इंट्राडे ट्रेडिंग के नियम]

ऑप्शन ट्रेडिंग के नियम | सफलता की कुंजी


स्टॉपलॉस की मर्यादा तय करे

आपको आपके मन में एक कीमत रखनी है जिससे की अगर कभी इससे ज्यादा लॉस तोह मार्केट से निकल जाऊंगा। स्टॉक मार्केट में जो प्रोफेशनल लोग होते है वोह अपने लॉस के बारे में सोचते है जबकि जो लोग नई शुरवात करते है वोह अपने प्रॉफिट के बारे में सोचते है।

अगर आपने सोच लिया की आपका एक दिन में लॉस लिमिट 5000 रुपये है और अगर कभी लॉस उसके आगे जाता है तोह आप उस दिन के लिए ट्रेडिंग बंद कर दीजिये।

प्रॉफिट टारगेट सेट करे

जब भी आप किसी स्टॉक में ट्रेड करते हो तोह अपना प्रॉफिट टारगेट सेट करे। ऐसा न करे की बार बार अपना प्रॉफिट टारगेट बदलते रहे जिससे आपको बाद में लॉस भी हो सकता है। आपकी अनिलसिस देख कर अपना प्रॉफिट बुक करे ज्यादा प्रॉफिट का लालच न करे।

अगर आपका प्रॉफिट टारगेट एक दिन का 10000 रुपये है तोह जब आपका प्रॉफिट टारगेट बुक करते हो तब उस दिन ट्रेडिंग बंद करदे। [इंट्राडे ट्रेडिंग के नियम]

एक साथ बहुत सारी पोजीशन होल्ड न करे

आप ट्रेडिंग में बिगिनर हो या एक्सपर्ट आपको कभी भी एक साथ बहुत सारी पोजीशन होल्ड नहीं करनी है। कभी कभी आप एक साथ 10 पोजीशन होल्ड करते है और बादमे आप उन 10 स्टॉक को एक साथ एनालेसिस नहीं कर सकते। इंट्राडे ट्रेडिंग में आपको हमेश ट्रेंड को देखना है और उसको देख कर ही अपना ट्रेड लेकर मुनाफा कामना है।

एनालेसिस को देखकर ट्रेड करे

बहुत बार आपको समझ नहीं आता की मार्केट में क्या चल रहा है तोह आपको बिनाकारण ट्रेड नहीं लेना है अगर आप ऐसे समय ट्रेड नहीं करते हो तोह वह भी एक स्ट्रैटेजी है। अगर आपको कुछ समझ नहीं आ रहा तोह आप किसी स्टॉक में गलत ट्रेड लेने से बचेंगे और हो सकता हैं की आपका लॉस होने से भी बच जाता है। [इंट्राडे ट्रेडिंग के नियम]


Sharing Is Caring:

I am Vishal, the person behind this wonderful blog. I am a 22-year old blogger, Digital Marketer, SEO Expert, and Influencer from Maharashtra(Bharat)

Leave a comment